छिपकली के गिरने का मतलब और फल–

अक्सर हमे घरो में दीवारों पर छिपकली रेंगती हुई दिखाई देती है। हर व्यक्ति को छिपकली से डर लगता है और खासकर महिलाओ को ज्यादा डर लगता है। छिपकली के अलग अलग अंग पर गिरने को लेकर कई सारी मान्यतायें है। तो दोस्तो आज का टॉपिक है छिपकली के किस अंग पर गिरने से आपको क्या लाभ होगा और आपका जीवन कैसे प्रभावित होगा ।

ज्योतिष के अनुसार छिपकली के अलग अलग अंग पर गिरने के अलग अलग लाभ है। ज्योतिषों के अनुसार पुरुषों के दाँये ओर महिलाओं के बाएं अंग पर गिरना शुभ तथा पुरुषों के बांये और महिलाओं के दाँये अंग पर गिरना अशुभ माना जाता है। क्योंकि छिपकली एक जहरीला जीव है तो अगर ये आपके ऊपर गिरती है तो उस अंग को तुरंत पानी से धो देना चाहिए क्योंकि इसके पसीने ज़हरीला होता है।

छिपकली के गिरने का मतलब

छिपकली के गिरने का मतलब और फल

तो आइए जानते है किस अंग पर गिरने को लेकर क्या मान्यता है।

1. माथे पर- छिपकली के माथे पर गिरने से सम्पत्ति मिलने की मान्यता है।

2.बालो पर- छिपकली के बालों पर गिरती है तो इसका मतलब जल्दी आपकी मृत्यु हो सकती है।

3.दाहिने कान पर – दाहिने काम पर गिरने से आपको आभूषण मिल सकते है।

4.बायें कान और दाँये गाल पर- इन पर गिरने से आपको आयु बढ़ने की मान्यता है।

5.बायें गाल पर- आपको पुराने मित्र से मुलाकात हो सकती है।

6. नाक पर- नाक पर चिपकली गिरने से जल्दी भाग्य चमकने वाला है।

7.बाईं आंख पर- बाईं आंख पर गिरने से आपको कोई बड़ी हानि होने वाली है।

8.दाढ़ी पर– दाढ़ी पर छिपकली गिरने से मतलब कोई भयंकर घटना होने वाली है।

9.मुछ पर – मुछ पर गिरने से आपको सम्मान की प्राप्ति हो सकती है।

10.भौह पर (आइब्रो) – इससे आपको धन हानि हो सकती है ।

11.कंठ पर- कंठ पर छिपकली गिरने से शत्रुओ का नाश होता

12. पीठ पर- पीठ पर बीच मे छिपकली गिरने से घर मे कलह होती है । पीठ के दाई और गिरने से सुख की प्राप्ति और बाई और गिरने से रोग दस्तक देता है।

13. कंधे पर- दाहिने कंधे पर गिरने से विजय की प्राप्ति और बाये कंधे पर गिरने से नए शत्रु बनते है।

14. भुजा पर- दाई भुजा पर धन लाभ और बाई भुजा पर सम्पति छीनने का नुकसान हो सकता है।

15.हथेली – दाहिने हथेली पर छिपकली गिरने से नए कपड़े मिलने का लाभ होता है। बाई हथेली पर गिरने से धन हानि का डर रहता है।

16.पेट पर- पेट पर छिपकली गिरने से आभूषण मिलने और नाभि पर गिरने से आपकी मनोकामनाएं पूरी होने का योग रहता है।

17.पैर पर- दाँये पैर या दाई एड़ी पर छिपकली गिरने से यात्रा लाभ और बाये पैर या बाई एड़ी पर गिरने से घर मे दुख कलह होने की मान्यता है।

18.तलवे पर अगर दाँये पैर के तलवे पर छिपकली गिरती है तो ऐशवर्य की प्राप्ति होती है और बाये तलवे पर छिपकली गिरती है तो व्यापार में हानि होने की संभावना है।

19.जांघ- दाहिनी जांघ पर छिपकली गिरने से सुख और सुकून मिलता हिअ जबकि बाहिनी जांघ पर छिपकली गिरने से दुख मिलता है और शरीर अस्वस्थ रहता है। और बीमारी होने की संभावना रहती है।

20.घुटने पर – बाये घुटने पर छिपकली गिरने से आपकी बुद्धि भृष्ट हो सकती है और मानसिक हानि से है। और दाँये घुटने पर छिपकली गिरने से यात्राका संयोग बन सकता है मतलब आपका कोई टूर बन सकता है।

21. छाती पर – अगर छिपकली दाई छाती पर गिरती है तो ढेर सारी खुशियां मिलती है और अगर बाई और गिरती है तो घर मे दुख और क्लेश हो सकता है।

तो इस प्रकार आपके शरीर के अलग अलग अंग पर छिपकली के गिरने से आपके ऊपर क्या प्रभाव पड़ता है और इससे आपको क्या फायदा और क्या नुकसान होता है।

Verdict

कहने को तो बस यह मान्यता है पर कुछ लोग इसे मानते है तो कुछ लोग नही मानते। सबकी अपनी अपनी मान्यता है।
आशा करता हु के आपको ये पोस्ट अच्छा लगा होगा ।
धन्यवाद।

Translate »