सुशांत का शरीर उतारने वाले सिद्धार्थ पिठानी को मुंबई पुलिस ने ढील क्यों दी | सुशांत सिंह राजपूत की रस्सी काटने के बावजूद सिद्धार्थ पिठानी ने छोड़ने की अनुमति दी

0
31

सिद्धार्थ ने उतारी बॉडी

सिद्धार्थ ने उतारी बॉडी

सिद्धार्थ पिठानी ने एक इंटरव्यू में कहा कि मौत के बाद सुशांत को सबसे पहले देखने वाले इंसान वे थे। उन्होंने सुशांत के एक रिश्तेदार के कहने पर चाकू से फंदा काटा और सुशांत के शरीर को नीचे उतारा था।

रात में की बात थी

रात में की बात थी

सिद्धार्थ ही वह इंसान थे जिनसे सुशांत ने आखिरी बार बात की थी। इसके बाद अगले दिन सुबह 8.30 बजे सिद्धार्थ नीचे आया और चाय पी। जिसके बाद कुक केशव ने उन्हें आकर बताया कि सुशांत सिंह राजपूत ने अपना कमरा अंदर से लॉक किया है और खुल नहीं रहे हैं।

कमरा खुलने की कोशिश

कमरा खुलने की कोशिश

सिद्धार्थ और केशव ने कमरे खुलवाने की कोशिश की जिसके बाद चाभी बनाने वाले को बुलाया गया जिसे आने में बीस मिनट लगे। चाभी बनी और कमरा खोला गया तो सिद्धार्थ ने देखा कि सुशांत फंदे से पंखे पर लटक रहे थे।

पुलिस को को खबर

पुलिस को को खबर

पुलिस को इस बारे में खबर करने वाले सबसे पहले इंसान भी सिद्धार्थ ही थे।सिद्धार्थ ने सुशांत की नब्ज़ चेक की जोज़नी पड़ रही थी। इस बीच सुशांत के एक रिश्तेदार के कहने पर उन्होंने हरे रंग के कपड़े का फंडा चाकू से काटा और सुशांत को नीचे उतारा।

दवा दे रहे थे

दवा दे रहे थे

सिद्धार्थ पिठानी पहले भी अपने कई बयान अलट पलट कर चुके हैं। उन्होंने एक इंटरव्यू में साफ कहा कि वो सुशांत को दो एमबी रात में देंगे। हालाँकि जब उनसे पूछा गया कि पीसी क्या थी, कौन सी थी तो उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी।

शासक के कहने पर दवा

शासक के कहने पर दवा

सिद्धार्थ का कहना है कि वो रिया के कहने पर सुशांत को दवा देते थे। इन दवाओं के पर्चे पर था। लेकिन वे इस बात से इंकार करते हैं कि उन्हें सुशांत कि दिमागी हालत के बारे में कुछ भी पता था। उनका कहना है कि वो सुशांत के ज़्यादा करीब नहीं थे।

हुई थी पार्टी

हुई थी पार्टी

टाइम्स नाऊ की एक रिपोर्ट के मुताबिक मौत से एक रात पहले सुशांत के घर एक पार्टी हुई जहां सुशांत ने ऑनलाइन गेम्स खेले। इस पार्टी में एक मिनिस्टर का बेटा भी मौजूद था। लेकिन सिद्धार्थ ने ऐसी किसी पार्टी से साफ मना किया है।

शेयर किए गए हैं वॉट्सएप

शेयर किए गए हैं वॉट्सएप

सिद्धार्थ पिठानी ने कुछ वॉट्सएप शेयर शेयर किए हैं जिसमें उन्होंने साफ किया कि सुशांत के जीजा जी ने खुद उन्हें कहा था कि कुछ गलत लगे तो पुलिस को इंफॉर्म कर देना। साथ ही उन्होंने सुशांत के लिए लिखा गया उनके जीजा जी के मेसेज भी शेयर किए।

बात नहीं करता था परिवार

बात नहीं करता था परिवार

सिद्धार्थ को सुशांत के जीजा जी के मेसेज से साफ है कि सुशांत और उनके परिवार के बीच बातचीत बंद थी इसलिए सुशांत के जीजा जी सिद्धार्थ को वो मेसेज भेज रहे थे।

दावा है

दावा है

अगर सिद्धार्थ के पास ये मेसेज आए तो ये बात साफ है कि उन्हें सुशांत और प्रधान के रिश्ते के बारे में पता था। लेकिन सिद्धार्थ ने खुद दावा किया था कि उन्हें सुशांत और प्रधान के रिश्तों के बीच की कोई जानकारी नहीं थी। कई उलटे पलटे बयानों के बावजूद मुंबई पुलिस ने सिद्धार्थ को हैदराबाद जाने की इजाज़त दे दी थी।