Chia Seeds in Hindi चिया बीजो के फायदे जानिए हिंदी में

आज का पोस्ट जो Chia Seeds in Hindi पर है आपके लिए काफी उपयोगी होने वाला है, प्रकृति एक माँ के समान हमें खाने पीने की चीजे मुहेंया करवाती है. प्रकृति ने मानव कल्याण के लिए बहुत सारी वस्तुए अनेको रूप में दी है जेसे की बीज, फल, मेवे और भी कई है, आज हम उसी मे से एक की बात करने वाले है। Giloy Benefits और Cinnamon के बाद आज हम इस पोस्ट में जानेंगे chia seeds meaning in Hindi तथा इससे जुड़े और भी कुछ उपयोगी बातो को।

दोस्तों पहले तो ये जानलो की चिया सीड्स तुलसी के बीजो को ही कहा जाता है। इसमें पाए जाने Protein, fats, Omega 3, Fiber के कारण इसकी उपयोगिता और भी बाड़ जाती है। ये तीन से चार रंगों जैसे white, grey, black, और brown colors में पाया जात है। चलिये दोस्तों chia seed in hindi के इस पोस्ट में जाने चिया सीड की पूरी जानकारी।

Chia seeds in hindi

Chia Seeds meaning in Hindi

Chia seeds meaning तुलसी बीज ही होता है। इसको भारत के कुछ क्षेत्रों तुकुमरिया भी कहते है। इसको कई रूपों में काम में लेते है, इसको कुल्फी के साथ फालूदा के साथ ऊपर डालकर भी खाते है। Indian name for chia seeds तुकुमरिया भी होता है।

Chia seeds in hindi

दोस्तों प्रकृती में पाए जाने वाले हर बीज का कुछ न कुछ औषधीय गुण होता है लेकिन उसका सही ज्ञान नहीं होने के कारण उसका उपयोग नहीं होता हैं, यहाँ पर कुछ पोपुलर चिया सीड्स के उपयोगी या गुणकारी उपयोग है जो अभी तक ज्ञान में है, हो सकता है और भी कई हो सकते है, लेकिन समय समय पर उसकी खोज होती रहेगी,

Chia seeds composition 
कैलोरी 37 ग्राम
प्रोटीन 4.4 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट 12.3 ग्राम
वसा 8.6 ग्राम
फाइबर 10.6 ग्राम
फास्‍फोरस 265 मिली ग्राम
कैल्शियम 177 मिली ग्राम
जस्ता 1 मिली ग्राम
तांबा 0.1 मिली ग्राम
पोटेशियम 44.8 मिली ग्राम
मैंगनीज 0.6 मिली ग्राम

Chia seeds Benefits चिया बीजो के फायदे

आजकल सबसे ज्यादा काम में लिए जाने वाले मेथड में आपके सामने रख रहा हु, प्रकृति में पाए जाने वाले हर प्रदार्थ का कुच्छ न कुच्छ उपयोग होता है उसी तरहा इसके भी उपयोग आगे पड़े

1. सूजन पर नियंत्रण : –

चिया सीड्स का सबसे ज्यादा उपयोग सुजन में किया जाता है क्योकि ये सुजन के उपचार के लिए best होम रेमेडी है तथा ये प्राचीन काल से ही इसका उपयोग सुजन को मिटाने के लिए किया जाता आ रहा है,  सूजन आना आम बात है, अगर किसी को कही लगती है, तो सुजन आना स्वाभाविक है। अगर आपके शारीर के किसी स्थान पर लम्बे समय से सुजन चल रही है तो आप इसका उपयोग कर सकते है इसके लिए आप

  • चिया बीजो को आधे गिलाश पानी में डालकर 1 घंटे तक भिगो ले।
  • ये अच्छी तरह भीगकर जब फूल जाये तब इसको अच्छी तरह पीस कर इसका एक घोल जेसा पेय बनाले।
  • और इसका सेवन करे। सुजन जल्द ही चली जाएगी।

सूजन पर नियंत्रण

2. Strong Nervous System –

Chia seeds में Nerve और brain cells को पोषण देने वाले प्रदार्थ प्रचुर मात्रा में होते है जिससे brain और Nervous System मजबूत होता है तथा साथ में मेमोरी भी अच्छी रहती है।

  • इसमें पाया जाने वाला ओमेगा-3 वसीय अम्ल मस्तिष्क कोशिकाओं और तन्त्रिकीय तन्त्र को मजबूत बनाने के लिए अहम् रोल अदा करता है,
  •  जिन लोगो में तर्त्रिका सम्बन्धित बिमारिय है वो इसका प्रयोग कर सकते है,
  • ये अल्जीमर्स और पागलपन जेसी भयानक बीमारियों के लिए बहुत गुणकारी होता है,

Strong Nervous System

3. हड्डियों में मजबूती

मानव हड्डिय उम्र बदने के साथ साथ कमजोर होने लग जाती है, शोध के अन्सुआर 30 की उम्र के बाद हड्डिया में कैल्सियम की कमी आने लगती है और वो दुर्बल होने लगती है, हड्डियों को मजबूत करने के लिए कैल्सियम की जरुरत होती है, इसकी आपूर्ति चिया सीड्स कर देता है. जो लोग हमेशा चिया बीजो का सेवन करते है उनकी हड्डिया मजबूत हो जाती है,

  • इसके रोजाना सेवन करने से शरीर की आवस्यकता की 18% तक Calcium की प्राप्ति हो जाती है।
  • जाहिर है कैल्शियम से हड्डिया और दात मजबूत होते है।

हड्डियों में मजबूती

4. Cholesterol पर नियंत्रण:

से खानपान में कमी और खाने में हथेली पर यादों की अधिकता के कारण कोलेस्ट्रॉल बढ़ना आजकल आम बात है। कोलस्ट्रोल बढ़ने के कारण हृदय रोग और बीपी जैसी बीमारियां आसानी से हो जाती हैं। जिन लोगों के अंदर कोलेस्ट्रॉल की बीमारी है उन्हें उन्हें हर महीने बारे में हकीकत दवा का खर्चा उठाना पड़ता है। लेकिन हम कुछ खानपान करें तो काफी हद तक कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित कर सकते हैं और इसमें काफी हद तक उपयोगी है।

  • हमने पहले भी बताया था की Omega 3 oil मानव शारीर से एक्स्ट्रा Cholesterol  को कम करने में बहुत ही लाभदायक होता है।
  • Chia seeds में Omega 3 oil प्रचुर मात्रा अगर आपक इसका नियमित सेवन करते है तो काफी हद तक Cholesterol पर नियंत्रण हो जाता है।

Cholesterol

5. पाचन में  –

भोजन में फाइबर की कमी के कारण आपात गैस बनना यह पाचन की आम समस्या है और आज हर व्यक्ति जो खाने में फाइबर कम लेता है उसे यह पाचन की बीमारियां होना स्वाभाविक है। अगर हम अपने दैनिक जीवन की खानपान में फाइबर की मात्रा लेते रहे तो काफी हद तक कम बादल की बीमारी से निजात पा सकते हैं

  • उपरोक्त तेयार घोल में फाइबर की प्रचुर मात्रा होते है जो हमारे शारीर की पाचन क्रिया को मजबूत करते है।
  • अधिक फाइबर वाले भोजन से कब्जी की समस्या भी दूर हो जाती है

6. वजन कम करने ( Obesity)

मोटापा आजकल की आम बीमारी है और यह मुख्य शहरों में ज्यादा और गांव में कम है। शहरों में ऐश्वर्या की जिंदगी होती है तो से गांव में थोड़ी भागदौड़ की जिंदगी होती है इस कारण से शहरों मैं मोटापे का प्रकोप ज्यादा है। अगर आप भी मोटापे की की बीमारी से जूझ रहे हैं तो आप इस एसिड का उपयोग कर सकते हैं यह मोटापे में बहुत ही लाभदायक होता है।

  • ये वजन कम करने में भी सहायक है, Chia seeds पानी के साथ फूलते है,
  • अगर हम इसका सेवेन करते है तो ये पेट में जाकर फुल जाते है और जिससे हमें भूख देरी से लगती है।
  • इसी कारण शारीर में एक्स्ट्रा केलोरी नहीं   बनती और मोटापा कम होता है।

7. Body Temperature:

मानव शरीर में टेंपरेचर नींद्रन के लिए 6 सीट काफी उपयोगी है जैसा कि हम जानते हैं मनुष्य का निश्चित टेंपरेचर 2 डिग्री होता है जो एक सामने टेंपरेचर होता है लेकिन कुछ लोगों में उतार चढ़ाव होता है। यह मुख्यतया किसी बीमारी आदि के कारण ऊपर नीचे होता है लेकिन छिया सीड्स टेंपरेचर को मेंटेन करने में काफी हद तक सहायता करता है।

  • Chia seeds हमारे Body Temperature मेंटेन में भी मदद करता है।
  • इसमें पाए जाने वाले Iron, Magnesium, Potassium, Omega-3 Fatty Acid प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते है।
  • और इनके और भी बहुत सरे फायदे है।

8. Prevention of Heart Disease :

आजकल दिल की बीमारियां या हार्ट डिजीज कॉसस के साथ से बहुत अधिक पाई जाती है। लेकिन इस बीमारी की रोकथाम के लिए कर्फ्यू में मिट जाए जिसका उपयोग करके हम काफी हद तक इस पर लगाम लगा सकते हैं।

  • इसमें पाया जाने वाला Omega 3 oil कोलेस्त्रोले को कम करताइ।
  • हमने पहले भी बताया था की Cholesterol दिल की बीमारियों में अहम् रोल प्ले करता है।
  • चिया सीड्स कोलेस्ट्रोल को कम करता है और हार्ट की डीजीज में काफी फायदा देता है।

Chia seeds सेे सावधानी (Precaution)

प्रोस्टेट कैंसर (Prostate cancer): इसमें अल्फा- लिनोलेनिक एसिड नमक प्रदार्थ होता हो, अगर इसका अधिक सेवेन किया जाये तो प्रोस्टेट कैंसर की सम्भावना बाद जाती है।

एलर्जी (Allergies):-

एलर्जी होना आजकल आम बात है और यह समानता किसे कीड़े मकोड़े के काटने से से होती है। लेकिन आपको अभी कोई एलर्जी लंबे समय से पकड़ के रखी है अगर आपको चिया बीजो से एलर्जी है तो इसका सेवन न करे।

How to use Chia seeds in Hindi चिया बीज का उपयोग कैसे करें

दोस्तों आप ने Chia seeds के व्यू के बारे में मालूम कर लिया है लेकिन आपको यह भी मालूम होना चाहिए इसका उपयोग हम कैसे कर सकते हैं। कहने का मतलब इसको कैसे काम में लें। आप इसका प्रयोग विभिन्न प्रकार से कर सकते हैं खाने में मिलाकर पाउडर में तथा पी के रूप में लेकिन आपको उसका सही ज्ञान देना आवश्यक है।

1. भिगोकर

अगर आप उसका प्रयोग करना चाहते हैं तो सबसे पहले भिगोकर यूज की जाने वाली विधि सबसे बेस्ट पर जाती है क्योंकि इसमें हाइड्रोलिक होता है जिसके कारण यह शरीर से पानी कुछ होता है अगर हम पहले से इसका उपयोग और काम में लें तो यह पहले से ही पानी को सोख लेता है।

2. पाउडर बनाकर

आप इसका प्रयोग पाउडर बनाकर भी कर सकते हैं इसके लिए आपको पहले चिया सीड्स के डीजे को सुबह करो ऑफिस लेना है पीसकर डब्बे के दर्शन देते हैं फिर उसी काम में ले सकते हैं

Chia seed in Hindi पर अंतिम पक्तिया

दोस्तों आशा करते है Castor oil की तरह आपको ये chia seeds in Hindi पोस्ट आपको जरुर पसंद आएगा। अगर इस पोस्टको कोई खामी लगे तो आप अपने सुझाव हमें अपने कमेंट्स से दे सकते है. जैसा कि मैंने पहले भी बताया था अर्पणा चिया बीज फल में कुछ गुणकारी तत्व होते हैं,

अगर उनका सही हो तो हम अपने दैनिक जीवन के कल्याण के लिए कर सकते हैं यह useful remedy जो शेयर की है अगर आपको भी कोई चिया सीड्स के बारे में गुण बारे में ज्ञान हो तो  हमें कमेंट के द्वारा बता सकते हैं। अगर आपने इनमें से किसी का उपयोग किया हो तो आप उसके प्रभाव को हमें हमें कॉमेंट के द्वारा करा सकते हैं

One Response

  1. apaljit singhal September 21, 2017