12 Laghu Udyog List in Hindi जानिये क्या है और कैसे स्टार्ट करे

आज का पोस्ट जो laghu udyog kya hai? पर है, आज इस पोस्ट में आप Laghu Udyog List in Hindi में जानेंगे और साथ में ये भी जानेंगे किस इसको सुरु केसे करे, दोस्तों हर व्यक्ति को एक निश्चित समय पचशात जीवन जीने और अपने खर्चो को मैनेज करने के लिये पैसा कमाने की आवश्यकता होती है । हर व्यक्ति का सपना होता है कि वह अपनी रुचि के अनुसार अपना काम करे और उसमें सफलता मिले ।

व्यक्ति या तो कोई नोकरी करने की सोचता है या फिर खुद का बिज़नेस करने की सोचता है। पर बिज़नेस के लिए पहले बड़ी मात्रा में पूंजी और समय की आवश्यकता होती है। और उसके बाद भी बिज़नेस में रिस्क होता है । फिर बिज़नेस शुरू हो भी जाए तो उसे निरंतर चलाना उतना आसान नही होता है।इसलिए लोग लघु उद्योग को चुनते है। भारत मे शुरुआती तौर पर लघु स्तरीय निर्माण को एक अच्छा और सही अवसर माना जाता है ।

Laghu udyog kya hai?

लघु उद्योग शुरू करने के लिए एक अच्छी प्लानिंग और अच्छा आईडिया होना जरूरी है।लघु उद्योग छोटे पैमाने पर कम समय, कम शक्ति और कम श्रम में वस्तुओं और सेवाओं का कम मात्रा में उत्पादन किया जाता है।

गावों और शहरों में भिन्नता के अनुसार अलग अलग कुटीर उद्योग है जैसे गावों में हाथ से होने वाले रोजगार ज्यादा सही है तथा शहरों में सभी साधन की संपूर्णता के कारण ज्यादातर काम मशीनों से होने लगा है जिससे यह आधुनिक तरीके से उद्योग का विकल्प चुनना चाहिए।

Laghu Udyog

कुटीर उद्योग का महत्व और उद्देश्य-

  • लघु उद्योगों का प्रमुख उद्देश्य रोजगार के अवसरों में वृद्धि करना और बेरोजगारी की समस्या को कम करना।
  • कुटीर उद्योग मुख्यत परिवार के सदस्यों के द्वारा चलाया जाता है इसमे सीमित मात्रा में पूंजी और श्रम की आवश्यकता होती है। गुड़ पापड़ अचार बनाना आदि मुख्य है ।
  • भारत मे बढ़ती बेरोजगारी को देखते हुए कम पूंजी और कम मात्रा में अकुशल बेरोजगारों को रोजगार मुहैया कराती है। जिससे बेरोजगारी भी कम होती है।
  • कुछ उद्योग समुदायों की सभ्यता और संस्कृति से भी जुड़े होते है जैसे काष्ट और बस्तर उद्योग। ऐसे उत्पादों के लिए रोजगार शुरू करने से उनकी संस्कृति भी सुरक्षित करना अच्छा प्रयास है।
  • कुटीर उद्योग आय और सम्पति में असंतुलन और असमानता भी कम होती है। आर्थिक शक्ति का समान वितरण होता है।
  • कुटीर उद्योगों से पर्यावरण को भी नुकसान नही पहुंचता तथा पर्यावरण भी संतुलित रहता है।
  • आम जनता को श्रेष्ठ वस्तुएँ उपलब्ध कराना मुख्य उद्देश्य है।

12+ Laghu Udyog List in Hindi

तो आइए जानते है कुछ मुख्य लघु उद्योगों के बारे में और उनमे काम आने वाली चीज़ों के बारे में –

1. होम कैंटीन –

आजकल घर पर खाना बनाकर आफिस कारखानों और अन्य जगहों पर खाना बनाकर टिफीन सर्विस देकर ग्राहकों को आपूर्ति कर सकते है। इसके लिए आपको एक अच्छा कुक होना जरूरी है तथा स्वादिस्ट खाना बनाना आना चाहिए और वैरायटी भी होनी चाहिए। आपका ये बिज़नेस सफल होने के लिए खाने की गुणवत्ता अच्छी होनी चाहिए और ग्राहकों को टाइम पर सर्विस देंने पर निर्भर करता है।

2.डेटा एंट्री जॉब –

डेटा एंट्री जॉब में निवेश की बड़ी मात्रा जरूरी नही है बस जरूरी है तो एक कंप्यूटर और एक अच्छा इंटरनेट कनेक्शन । इससे आपको घर बैठे अच्छे अच्छे डेटा एंट्री जॉब मिल जाएंगे। बस इसमे एक निश्चित समय मे काम पूरा करना होता है।

3.मोबाइल रिपेयर-

मोबाइल फ़ोन आजकल जीवन का एक महत्वपूर्ण अंग बन चुका है। और इसका मार्किट भी बहुत बड़ा है। मोबाइल जब भी खराब होता है तो इसको रिपेयरिंग करवाना पड़ता है तो मोबाइल रिपेयरिंग भी एक अच्छा काम है परंतु इसकी पूरी समझ होनी जरूरी है।

4.कंप्यूटर रिपेयर-

आजकल हर काम ऑनलाइन हो गया है तो घर आफिस और हर जगह कंप्यूटर है तो कंप्यूटर रिपेयर कोर्स करके भी आप अच्छे पैसे कमा सकते है। इसलिए आपको हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर की जानकारी होना जरूरी है।

5.रेस्टोरेंट-

लोगो को लगता है कि रेस्टोरेंट खोलने के लिये ज्यादा पूंजी लगानी पड़ती है पर इसलिए लिए ज्यादा नही पर थोडी पूंजी होनी चाहिए और एक जगह होनी जरूरी है । आदमी गरीब हो या अमीर खाना आदमी की मूल जरूरत है। शुरुआत में आप छोटे मेनू से भी शुरू कर सकते है। आप रोज़ ऐसी चीज़ों को खरीद सकते है जो एक नार्मल मेनू को पूरा कर सके। फिर धीरे धीरे उसको बड़ा सकते है।

6.चाक बनाना और मोमबत्ती बनाना-

चाक बनाना काफी आसान है और स्कूल कॉलेजों में इसकी मांग को देखते हुए ये बहुत अच्छा रोजगार है । भारत मे हर साल नए स्कूल और कॉलेज खुल रहे है । चाक बनाने के लिए बहुत कारखाने है पर पूर्ति काम है ।

इसमे लाभ अच्छा है इसलिए ये भी एक अच्छा कुटीर उद्योग है। मोमबत्ती बनाना आसान है। जिसे घर बैठे कम पेसो में आराम से शुरू किया जा सकता है। अधिकतर महिलाये ही ये रोजगार चलाती है। सुंदर खुशबूदार और रंग रंगीली मोमबत्तिया हर किसी को अच्छी लगती है। इसलिये ये उद्योग गावो से लेकर इंटरनेशनल लेवल ओर अच्छा उद्योग है।

7.अचार पापड़-

महिलाओं के लिए सबसे आसान और अच्छा उद्योग है और घर पर आराम से किया जाने वाला उद्योग है जिसमे कोई निवेश की जरूरत नही है।

8.जूस की दुकान –

जूस की दुकान भी गर्मी में काफी अच्छा काम है। सेहत का ध्यान रखने के लिए ज्यादातर लोग फ़ास्ट फ़ूड और कोल्ड ड्रिंक की जगह फ्रूट जूस और गन्ने का रस पीते है । तो गर्मी में एक अच्छा चलने वाला बिज़नेस है। आप तरह तरह के जूस और मिक्स फ्रूट जूस भी बना सकते है। क्योकि जिसक डिमांड हमेशा रहता है।

9.फोटोकॉपी एंड ईमित्र-

आजकल कोचिंग स्कूल की अधिकता की वजह से स्टूडेंट्स नोट्स के लिए हमेशा फोटोकॉपी की शॉप पर दिखाई देते है। और फॉर्म भरने के लिए भी ईमित्र की दुकानों पर जाते है तो आपको अगर थोड़ा नॉलेज है एयर पढ़े लिखे है तो आप एक ईमित्र ओर फोटोकॉपी की दुकान भी खोल सकते है और एच पैसा कमा सकते है।

10. सेल्फमेड ज्वेलरी-

अगर आप कुशल कारीगर है और डिजाइनिंग का अच्छा ज्ञान है और इसमें रुचि रखते है तो आप इसमें भी अच्छा उद्योग शुरू कर सकते है जैसे बाजार से कच्चा माल लेके आप खुद की अछि डिज़ाइन बनाकर ज्वेलरी डिज़ाइन कर सकते है और अच्छी कीमत पर बेच सकते है।

11. सिलाई और क्लॉथ डिज़ाइन।

इसके अलावा भी बहुत से काम है जिनको आप अपनी रुचि के अनुसार चुन सकते है। आजकल सोशल मीडिया पर भी बहुत साधन है। जिससे आप अपना बिज़नेस शुरू कर सकते है। एक अच्छी प्लांनिग और पूरी जानकारी होना बहुत जरूरी है किसी भी काम को शुरू करने से पहले उसके बारे में पूरी जानकारी लेना बहुत जरूरी है।

12. अन्य

यहाँ पर कुछ और लघु उद्योग है जिनकी भी जानकारी आप रक सकते है:-

  • छोटे कूलर बनाना
  • वोल्ट मीटर बनाना
  • कांटेदार खेतो के तार बनाना
  • फैंसी टोकरीया बनाना
  • चमडे का बैग बनाना
  • एल्यूमीनियम बर्तन
  • हॉस्पिटल स्ट्रेचर बनाना
  • गाड़ीयो हेडलाइट बनाना

Laghu Udhyog के लिए विभिन्न सरकारी योजनाये

यहाँ पर कुछ प्रमुख सरकारी योजनाये जिनका फायदा आप उठा सकते हो :-

1. Coconut Producing Units or TMOC
2.. Subsidy for Small Business for Cold Chain
3. Mini Tools Room and Training Centre Scheme
4. Overnment Subsidy for Small Business from NSIC
5. Technology & Quality Upgradation Support for MSMEs
6. Market Development Assistance Scheme
7. Credit Linked Capital Subsidy
8. Development of Leather Industry
9. Establishment for Food Processing Industries
10. Technology Upgradation Fund Scheme
11. Organic farming subsidy
12. Credit Guarantee Fund Yojana
13. SAMPADA Scheme for Agro-Marine Produce Processing

Laghu Udyog Loan

आप अपने लघु उद्योग के लिए लोन भी ले सकते है, अगर आपके पास पैसा नहीं है तो आप बैंक से लोड जेसे Mark Sheet loan आदि लेकर अपना छोटा सा व्यवसाय सुरु कर सकते है, इसके लिए आप नजदीकी बैंक से जाकर सम्पर्क करे या किसी CA से मिले वो आपको उचित राय देगा

Laghu Udyog Loan

Verdict

तो दोस्तो कैसा लगा आपको ये पोस्ट अगर आपके पास भी ऐसे कोई आईडिया है छोटे उद्योग शुरू करने के तो हमे कमेंट बॉक्स में बताइये। आशा करता हु आपको ये पोस्ट अच्छा लगा होगा । धन्यवाद।

NGO full form

What is GST full form in English

सरोगेसी है क्या

ITI Full Form in Hindi

Translate »