पीरियड के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए Period ke kitane din baad sambandh banaana chahiye

आज के पोस्ट में हम पीरियड के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए (Period ke kitane din baad sambandh banaana chaahie) के बारे में पूर्ण जानकारी आपके सामने रखने वाले है इसमें आप पाओगे की रुका हुआ पीरियड लाने की दवा क्या होती है? अनवांटेड किट खाने के बाद कितने दिन बाद पीरियड आता है।

तथा अगर गर्भ धारण करना चाहते है तो इस पोस्ट को पर्द्कर आप गर्भधारण के फ़ास्ट तरीके टिप्स भी पड सकते है जिससे आपको गर्भधारण में सहायता मिलेगी, ये कम्पलीट पोस्ट है जो नई नई शादी के बाद या पहली बार सेक्स करने के बाद या उससे पहले जानना बहुत ही आवश्यक होती है।

Contents

पीरियड के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए

जैसे की हमारे पोस्ट का मुक्ष्य टॉपिक पीरियड के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए? (Period ke kitane din baad sambandh banaana chaahie?) आपको बता दे आप पीरियड आने के बाद 5 दिनों बाद संबंध बना सकते है।

लेकिन ये आप पर depend है की आप संबंध किस हिसाब से बन्नाबन्ना चाहते है क्योकि पीरियड के कितने दिन बाद संबंध बनाने के समय पर सब कुछ डिपेंड है।

जोश की दवा का नाम हिंदी

पीरियड के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए

अगर आपको गर्भ धारण करना है तो उस हिसाब से  पीरियड के बाद संबंध की सही तारिक या दिन तय किये जाते है अगर आपको गर्भ धारण से बचना है या परिवार नियोजन के हिसाब से सम्बन्ध रखना चाहते है तो उस हिसाब से सम्बन्ध या सम्भोग करना होगा जैसे की :-

  • A – गर्भधारण के लिए सही समय  – पीरियड स्टार्ट होने से  14 दिन बाद।
  • B – गर्भधारण से बचाव का समय ( सेफ पीरियड) – ये पीरियड आने से 7 दिन पहले से 7 दिन बाद तक होता है।
  • C -आप बिना किसी इशू के पीरियड आने के 5 दिन बाद सम्बन्ध बना सकते हो।

अब आप पीरियड के कितने दिन बाद सेक्स करना चाहिए के बारे में समझ गए होंगे की आपको संबंध किसके लिए बनना है गर्भधारण के लिए या गर्भधारण से बचने के लिए आगे पड़े विस्तार में  :-

पीरियड के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए जिससे गर्भधारण हो?

जैसे हमने टॉपिक के हिसाब से पोस्ट को दो भागो में बाटा है, अगर आपको गर्भ धारण करना है तो आपको या तो पीरियड स्टार्ट की डेट से 14 वे दिन पर समन्ध बनाना होगा या फिर पीरियड ख़त्म होने के 7 दिन बाद सम्भोग करना होगा, इसको आप निम्न प्रकार से समझ सकते हो :-

  • अगर 1 तारीख को पीरियड आया है तो 14 तारिक को समन्ध बनाने पर गर्भधारण की सम्भावना ज्यादा रहती है
  • अगर पीरियड ख़त्म होने की तारीख १ है तो 7  तारीख को सम्बन्ध बनाने पर गर्भ धारण की संभावना बाद जाती है .

पीरियड के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए जिससे गर्भधारण न हो? Safe Period

दोस्तों अगर आप फॅमिली प्लानिंग कर रहे हो या शादी से पहले संबंध बनाना चाहते हो और अभी तक बचे की चाह आपको नहीं तो आप Safe Period को धन में रख कर सम्बन्ध बना सकते हो, इस Safe Period गर्भधारण के चांस ना के बराबर होते है, पीरियड आने से साथ दिन पहले और साथ दिन बाद तक को सेफ पीरियड कहते है।

इसका एक कारण भी है क्योकि पीरियड आने से साथ दिन पहले पुराने बने हुए अण्डाणु निष्क्रिय होकर माशिक धर्म के प्रोसेस से बहार निकलने की प्रक्रिया में आ जाते है, और मासिक धर्म के साथ दिन बाद तक नए अण्डाणु बनते है इस प्रोसेस में वो न्शेचित नहीं हो पाते और इससे गर्भधारण के चांस ना के बराबर हो जाता है:-

  • अगर 10 तारीख को पीरियड आता है तो 16 तारीख तक सेफ रहता है इसमें गर्भधारण नहीं होता है,
  • अगर 10 तारीख को पीरियड आता तो 5 से 10 के बिच में संबंध बनाने पर गर्भधारण नहीं होता है,
  • इसलिए अगर 10 को पीरियड आता है तो 5 तारीख से 15 तारीख तक के दिन में गर्भधारण नहीं होता है,

इसलिए अब आप खुद चयन कर सकते हो की आपको संबध किस हिसाब से बनाना है,

साधारणतौर पर पीरियड के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए

अगर आपको गर्भधारण या फॅमिली प्लानिंग या कोई इशू नहीं है आप contraceptives जैसे कॉपर T या कंडोम आदि का उपयोग करके सम्बन्ध बनान चाहते हो तो आप  बाकी आप नॉर्मली पीरियड के 5 दिन बाद संबंध बना सकते हो, उसमे कोई इशू नहीं होता, लेकिन इसका ध्यान जरुर रखे की :-

  • महिला माशिक धर्म पूर्ण रूप से बंद हो गया है।
  • नोर्मल्ली मासिक धर्म ३ दिन बाद साफ हो जाता है।

औरतो में पीरियड क्यों आते है? Why Menstrual cycle Happen

दोस्तों बहुत सारे लोगो में ये सवाल जबी क्लियर न हो तो उठता ही रहता है की ऐसा क्या है जिसके कारण महिलाओ में पीरियड आते है, वैसे दोस्तों इसके पीछे एक बायोलॉजिकल कारण है, इसी के कारण महिलाए गर्भधारण करती है और इसी से इस धरती पर जवान चक्र चलता है,

महिलाओं में योवन अवस्था से लेकर जब तक बुढ़ापा नहीं आ जाता तक तक हर महीने अण्डाणु बनाते रहते है, अगर पुरुष के वीर्य से निषेचित हो जाते है तो महिला गर्भ धारण कर लेती है और 9 महीने के बाद बच्चा होता है, अगर अनचाह गर्भ धारण हो जाए तो Unwanted 72 के प्रयोग से 72 में रोक सकते है।

अगर बने हुए अण्डाणु निषेचित नहीं होते तो वो महीने में एक बार बाहर आ जाते है इस्नको निकलने के लिए एक माध्यम की जरुरत होती है वो मध्यम थोड़े से ब्लीडिंग से मिल जाता है, फिर बाद में नए अण्डाणु बनते है और ये Menstrual cycle चलता रहता है, जिसे आप Menstrual cycle में देख सकते हो :-

10 गर्भ मे लडका होने के लक्षण

Menstrual cycle Chart

पहली बार लडकियों में पीरियड कबसे स्टार्ट होते है?

लडकियों में सबसे पहला पीरियड किस उम्र मई आता है ये जानना हर हर लड़की को अति अवश्यक है और ये जानकारी अपने बिटिया को भी देनी बहुत जरुरी होती है,

क्योकि अच्च्नक सरीर में आये बदलाव से बच्चे घबरा जाते है, इसलिए इसकी पूरी जानकारी रखे और अपनी बिटिया को सही समय आने पर बताये।

लडकियों में 10 से 11 साल के बिच में पुबेरिटी आना सुरु हो जाती है और 10 से 11 साल के बिच पहल मासिक धर्म आता है, वैसे पहले एक साल में योनी से सफेद स्राव सुरु हो जाने लगता है जो लग भाग हर महीने एक साल तक आता है, इससे मालुम चल जाता है की सरीर में हार्मोनल बदलाव आने सुरु हो गए है।

हिंदी में क्युनोवा है क्या ?

पहली बार लडकियों में पीरियड कबसे स्टार्ट होते

बेटी के पहले पीरियड्स आने से पहले कुछ लक्षण

  1. 10 साल की उम्र होने पर थोडा वजाइनल डिस्‍चार्ज discharge होने लग जाता है,
  2. ये हलके वजाइनल डिस्‍चार्ज रंग का होता है जो हार्मोनल बदलाव का लक्षण ई,
  3. अंडरआर्म्‍स में बाल आने लग जाते है और यौन अंगों में बाल आने लगते हैं।

पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद क्या करे?

हेल्लो फ्रेंड्स अगर आपका पीरियड्स मिस हो गया है (Period Mis hone ke 7 din baad kya kare?)तो सायद आप दर सकते हो की पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद अब क्या करे, पीरियड मिस होने के बहुत कारण है, आप सही से पडकर कारण पता करे बाद में किसी मुख्य कारण को ध्यान में रखकर आगे की प्रक्रिया करे।

अगर आपके किसी साथ या अपने पति के साथ सम्पर्क बनाय है और contraceptive काम में नहीं लिए तो सबसे पहले Prega news की सहायता से प्रेगनेंसी टेस्ट करे।

अगर आपका रिजल्ट नेगेटिव आये तो आगे और कारणों पर विचार करे वैसे सुरुवात में रिजल्ट नागेतिवे भी आ सकता है, इसके लिए आप हमारे पोस्ट गर्भावस्था के लक्षण का पोस्ट पड सकते है।

वैसे पीरियड मिस होने बहुत सारे कारण है जीने प्रेग्नच्य से लेकर बहुत सारे अन्य कारण भी मतलब लड़की अगर गर्भवती नहीं भी हो तो भी बहुत बार ऐसी स्थति बन जाती है की महिला को पीरियड आये ही नहीं, आ आईये जाने पीरियड मिस होने के कारण : –

पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट

अगर आपका पीरियड मिस हो गया है ( Period mis hone ke 7 din baad pregancy test) फिर भी साथ दिनों बाद में भी pregnancy टेस्ट प्रेगनेंसी टेस्ट बता रहा है, तो जाने किन कारणों से pregnancy Negative बता सकता है :-

पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद

1. सुबह का पेसाब काम में ले 

अगर आप pregnancy टेस्ट कर रहे है और अगर आपने दिन में ही प्रेगा यूज या कोई दूसरी pregnancy टेस्ट किट मंगवा कर उसी समय झाच करली तो, रिपोर्ट negative आ सकती है।

हमेश ध्यान में रखे की प्रेगनेंसी टेस्ट की सही से रिपोर्ट निकालने के लिए हमेसा सुबह का अहला पेसाब काम में ले, इसके लिए आप हमारे प्रेगान्युज वाला पोस्ट अची तरह से पद सकते है।

2. टेस्टिंग को सही से देख नहीं पाना

सुरुवाती समय में हरमों बहुत ही कम बनता है जिससे वो टेस्ट स्लाइड से बहुत ही कम रियेक्ट कर पता है, अगर आपने सही से नहीं देखा तो आपको रिपोर्ट nagative लग सकती है, क्योकि स्टार्ट के दिनों में लाइन बहुत ही हलकी आती है, इसलिए सही प्रकाश और सही एंगल से देखे।

3. हार्मोन का कम होना

जैसे की हमको पता है कोई भी pregnancy test हरमोंनो के हिसाब से काम करती है, जब महिला के यूरिन में बना हरमोंन किट से हरमों से रियेक्ट करता है तो टेक्स्ट की पत्तिय दिखाई देती है, बहुत सी महिलाओं में हरमों बहुत कम मात्र में होता है जिससे भी रिपोर्ट nagative आ सकती है।

4. पीसीओएस

थायराइड के कारण या फिर  पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) के कारण भी प्रेग्नेंसी टेस्ट निगेटिव आने बहुत ज्यादा चांस होते है, अगर आपको थायराइड है तो इस बात को भी नोट करले,

वैसे बहुत साड़ी महिलाओं में थायराइड की प्रॉब्लम होती है लेकिन हलके लक्षणों के कारण पता ही नहीं चलता, इसके थायराइड टेस्ट करवाते है तभी थायराइड का पूरा पता चालत है, वैसे थायराइड की प्रॉब्लम होने पर ग्राभ्धारण में भी समस्या आ सकती है।

5. तनाव

कही बार अत्यधिक तनाव होने पर भी पीरियड मिस हो सकता है,  कही बार किसी नजदीकी के साथ अन्होनी या बहुत अधिक टेंशन वाली बात हो जाती है तब ज्यादा तनाव के कारण हार्मोनल बैलेंस गड़बड़ हो जाता है और Hormonals Imbalance के कारण पीरियड मिस हो सकता है।

6. अनियमित पीरियड

कही महिलाओं की भागदौड वाली जिंदगी होती है जिससे खान पान सोना बैठना आदि सब अनियमित ओ जाता है, इस कारण से भी अनियमित पीरियड हो जाता है, जिनको अनियमित पीरियड होता है उनमे अमूमन पीरियड डेट कभी पहले कभी काफी लेट हो जाती है।

7. एक्टोपिक प्रेग्नेंसी

एक्टोपिक प्रेग्नेंसी में भी  अनियमित पीरियड की सिकायत हो सकती है, वैसे ये बहुत ही कम महिलाओं में पायी जाती है फिर भी अगर टेस्ट Negative आने के बाद भी ब्लीडिंग पेट में दर्द जैसे लक्षण आये तो सीधे डॉक्टर से सम्पर्क करना ही उचित होता है।

8. पहली बार संबंध बनाना

ये भी देखा गया है जीवन में पहली बार संबंध बनाने पर भी बहुत बार पीरियड्स की टाइमिंग कभी कभी ऊपर निचे हो जाती है, अगर आपने पहली बार संबंद बनाया है तो सायद उसके कारण भी पीरियड मिस होने का कारन बन सकता है।

ये कुछ मुख्य कारण हो सकते है और भी छोटे मोटे कारण हो सकते है, लेकिन वो विशेष परिस्थितियों में होते है,।

रुका हुआ पीरियड लाने की दवा

रुका हुआ पीरियड लाने की दवा का नाम (Ruka hua peeriyad laane kee dava)बहुत सारे है जिनमे मैथी, पपीता, जीरा, अदरक, अजवायन आदि है जिनके उपयोग आप निचे सकते हो, दोस्तों कुछ स्त्रिया डेट से पहले Periods चाहती हैं।

या कही जाना चाहती है और जाने पर पीरियड ना आये और पीरियड उससे पहले ही आ जाये तो उसका उपाय और सटीक दवाये अलोपैथी में उपलब्द है, लेकिन हम कुछ घरेलु उपाय आपके साथ शेयर करेंगे जो अपेक्षाकृत ज्यादा सेफ र नेचुरल होता है।

वैसे हम जानते है पीरियड आना एक प्राकृतिक नियम है, इससे ही जीवन चक्र चलता है इसमें फेरबदल करने की जरुरत नहीं होती है लेकिन, अपने कुछ विशेष कारणों के चलते महिलाये रुका हुआ पीरियड लाने की दवा आदि का प्रयोग करती है।

कही बार ऐसा भी हो जाता है की किसी करणवश पीरियड रुक जाता है तो पीरियड को लाने की जरुरत पड़ती है, या यु कहे तो मासिक धर्म को सही से बनाये रखने की लिए इसकी आवस्यकता पड़ती है। रुका हुआ पीरियड लाने  के कुछ गरेलू उपाय निम्न है :-

(Warning)  नोट: इस प्रकार के मेथड से अबॉशर्न या गर्भपात भी हो सकता है अगर आप गर्भवती है या आपक्को मालुम नहीं है की आप गर्भ धारण के सुरुवाती महीनो मई तो इसका प्रयोग न करे, हमेशा डॉक्टर की सलाह से काम करे।

अजवायन –

अजवायन रुका हुआ पीरियड लाने की दवा के रूप में सदियों से काम में लिया जाता आ रहा है, इसमें अजवायन को उबाल कर और चाय के साथ पिया जाता है :-

  • 150 पानी में 6 ग्राम अजवायन ले और इसको उबाल ले,
  • उबले हुए अजवायन के पानी को ठंडा करे दिन में तिन बार पिये,
  • दिन में दो बार अजवायन को चाय के साथ पिए,

जीरा

जीरा को ग्राम माना जाता है, सब जानते है जीरे की तासीर गर्म होती है, अगर जीरे का सेवन किया जाए तो भी रुका हुआ पीरियड आने की संभावना बाद जाती है।

अदरक

ये भी गर्म पदार्थो में आता है अगर आप अदरक के साथ अजवायन की चाय पिए तो भी इसका प्रभाव पीरियड लाने के उपाय में हो सकता है।

मेथी के दाने

बहुत सारे ब्लोग्स में मेथी का जिक्र किया गया है वेसे मेथी या fenugreek के और भी अधिक फायदे है लेकिन इसका प्रयोग पीरियड लाने की दवा के रूप में भी किया जाता है।

कच्चा पपीता

दोस्तों कच्चा पपीता सबसे ज्यादा उपयोगी है लेकिन ध्यान रहे ये गर्भपात का पर्मुख कारक भी है इसलिए अगर आप इसका सेवन करना चाहते है pregnancy टेस्ट जरुर करे वरना और भी समस्याए आ सकती है।

  • कच्चा पपीता का जूस बनाकर पि सकते है.
  • इसे आप ऐसे भी खा सकते है

अनार

अनार का उपयोग भी रुका हुआ पीरियड लाने की दवा के रूप में किया जा सकता है, इसीलिए ग्रभावस्था इसका प्रयोग वंचित होता है, इसके लिए पीरियड की डेट से 15 दिन पहले इसके दानो का जूस पीना स्टार्ट कर दिया जाता है।

रुका हुआ पीरियड लाने की दवा Ka name

दोस्तों रुका हुआ पीरियड लाने की दवा ka name आप इन्टरनेट से पा सकते हो लेकिन हम इसका जिक्र इस पोस्ट में नहीं कर रहे है क्योकि ये डॉक्टरी सलाह और उनकी देख रेख में दि जाती है।

क्योकि ऐसे ही बिना सलाह लेने पर घटक नुक्सान जेसे ब्लीडिंग आदि हो सकती है, इसलिए आप भी विशेष परिस्थितियों में भी ले तो डॉक्टर की सलाह जरुर ले, इसके लिए आप ऑनलाइन डॉक्टर से कल्सुल्ट भी कर सकते है।

पीरियड्स या माशिक धर्म से जुड़े सवाल जवाब

यहाँ पर कुछ प्रश्न उतर है जिनका संबंद पीरियड्स या माशिक धर्म से है, जिनको अक्सर लोग पुचाहते है, उन्ही मेसे हमने महत्वपूर्ण सवाल जवाबो को अपने पोस्ट में ऐड किया है, अगर पूरा पोस्ट पड़ने पर भी आपके मन में कोई सवाल है तो आशा है निचे दिए गए पोस्ट में पुरे क्लियर हो जायेंगे :-

अनवांटेड किट खाने के बाद कितने दिन बाद पीरियड आता है?

अगर का सही से प्रयोग किया जाए तो 4-6 घंटे के भीतर ही ब्लीडिंग होने लग जाती है या माशिक दर्म आने लग जाता है, लेकिन ये गर्भधारण  को रोकने के लिए बनी हुए गोली है, इसलिए अगर unwanted 72 गोली है तो इसमें ज्यादा कोई इशू नहीं होता नार्मल ब्लीडिंग होने के चांस हो सकते है।

अगर अनवांटेड किट खाते है तो ब्लीडिंग का चांस आपके भ्रूण की अवधि पर निर्भर करता है, दरसल अनवांटेड किट एक एबॉर्शन या गर्भपात की की गोली है, भारतीय कानून के हिसाब से गर्भपात पूर्ण रूप से क़ानूनी अपराध है यकीन विशेष परिस्थतियो में गर्भपात करवा सकते वो डॉक्टर की देश रेख में।

अगर इसका इस्तेमाल सही से न किया जाए तो गभीर नुक्सान हो सकते है, वैसे इसका प्रभाव 30 के ग्रभधारण तक ही पड़ता है, अगर ग्रभधारण की अवदी लम्भी है तो बाद में इसका कोई असर नहीं होता लेकिन गोली के कारण माँ को दूसरी प्रॉब्लम होने खतरा रहता है.

अनवांटेड किट में 5 गोली होती है  एक  मीफेप्रिस्टोन (Mifepristone) तथा 4  गोली मिसोप्रोस्टॉल (Misoprostol) की होती है, मीफेप्रिस्टोन (Mifepristone) pregnancy को बनाये रखने में अवश्यक हरमोंन को ब्लाक कर देती है या उनको निष्क्रिय कर देती है तथा मिसोप्रोस्टॉल गर्भाशय को सिकोड़ने का काम करती है जिससे दर्द होता है गर्भपात होता है।

पीरियड बंद होने के लक्षण?

40 से 50 वर्ष उम्र पार होने पर माशिक ड्रम बंद हो जाता है जिसे मोनोपोज कहते है, ये सरीर में आने वाले अस्त्रोजन हरमों की कमी के कारण होता है।
पीरियड बंद होने के लक्षण के पहल्ले ही सामने आने लग जाते है, सबसे पहले पीरियड देरी से आते है साल भर कभी कभार आते है और बाद में पूर्ण रूप से बंद हो है, पीरियड बंद होने के मुख्य लक्षण निम्न है :-
  1. महिला की उम्र 40 से ऊपर हो जाती है।
  2. सुरुवात में पीरियड की डेट चेंज हो जाती है।
  3. पहले एक साल पीरियड दो या तीन महीने में एक बार आता है।
  4. बाद एक साल बाद पीरियड पूरी तरह से बंद हो जाता है।

पीरियड के कितने दिन बाद गर्भ ठहरता है?

माशिक दर्म आने के 5 दिन बाद गर्भ ठहरता है, वैसे इस बाद भी ठहर सकता है लेकिन इस समय ओव्यूलेशन का सही समय रहता है, इस दोरान सुक्राणु से सम्पर्क में आ जाते है तो गर्भधारण हो जाता है।
वैसे ये मुख्य दिनों में से एक होता है पीरियड्स शुरू होने से 7 दिन पहले और ख़त्म होने के 5 दिन बाद तक ग्रभधारण की सम्भावन बहुत ही कम या ना के बराबर रहती है, इसको सेफ पीरियड भी कहते है।

पीरियड आने से पहले के लक्षण?

पीरियड आने से पहले कुछ लक्षण आते है जिससे महलिआओ को पहले ही आने की डेट मालुम चल जाती है, वैसे पीरियड हमेशा 28 दिन बाद आते है लेकिन बहुत बार ये थोड़े ऊपर निचे भी हो जाते है, पीरियड आने से पहले के लक्षण को अगर सही से ध्यान रखा जाए तो आने की डेट मालुम चल जाती है।

उससे महिला पहले ही अपने आप को प्रेपैरे या तेयार कर लेती है जिससे बाद में अचानक आने से कोई परेशानी ना हो. पीरियड आने से पहले के लक्षण में हल्का पेट दर्द, रूलाई आना, चिड़चिड़ापन, बैचेनी आदि होते है,  पीरियड्स आने के बाद आमतौर पर एक औरत निम्न लक्षण फील होते है :-

  • थकान
  • बैचेनी
  • पेट दर्द
  • मुँहासे
  • सूजन
  • रूलाई आना
  • चिड़चिड़ापन
  • स्तन में दर्द
  • वजन बढ़ना
  • सिरदर्द/पीठ दर्द
  • भूख अधिक लगति है
  • थकान के साथ नींद भी आती है
  • डिप्रैशनटाइप मूड रहता है
  • ध्यान केंद्रित करने में परेशानी

पीरियड मिस होने के कितने दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करे?

आप पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट का सकते है, अगर अगर टेस्ट nagetive आये तो भी 5 दिन बाद दूसरा confirmative टेस्ट करे, क्योकि सुरुवात में एस्ट nagative आने के चांस बहुत ज्यादा होते है इसलिये सुबह का पहला पेसब ले और उससे टेस्ट करे:-

  • पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेगान्युज ले।
  • सुबह का पहला पेसब लेकर उस पर ड्रापर की सहायता से 2 बूंद पेसब की ले।
  • कुछ मिनट वैट करे अगर आपको दो लाइन दिख रही है तो आप प्रेग्नेंट हो।
  • अगर एक लाइन दिखती है तो रिपोर्ट nagative है।
  • अगर एक भी लाइन नहीं दिखती तो कार्ड ख़राब है।

पीरियड के कितने दिन बाद बच्चा ठहरता है?

सभी ये जानना चाहते है की पीरियड के कितने दिन बाद बच्चा ठहरता है? आपको बता दे की पीरियड के 6 दिन बाद बच्चा ठहरता है या इस समय बच्चा ठहरने की संभावना सबसइ अधिक होती है, क्योकि 5 दिन आचे से स्त्री में ओवोल्युसन होता है।

अगर आप गर्भ धारण करना चाहते हो या बच्चे की चाहत है तो पीरियड के5 दिन बाद सेक्स करे फिर एक दिन रुके और तीसरे दिन आवर सेक्स करे, बिच बिच में रुकने से शुक्रानुओ की गुणवता भी अच्छी रहती है इससे स्पस्ट है की पीरियड के कितने दिन बाद तक प्रेग्नेंट हो सकते है।

पीरियड खुल के आने के लिए क्या करे?

अगर आपका पीरियड्स खुलकर नहीं आता है तो पीरियड खुल के आने के अजवायन, मेथी, अदरक, पपीता अदि गर्म पर्दार्ठो का  सेवन करे, इससे आपके पीरियड्स या माशिक धर्म अच्छे से आयंगे।

ये लेने से पहले ये कन्फर्म जरुर रखे की आप प्रेग्नेंट नहीं हो, क्योकि ये सीड्स गर्भ पर उल्टा प्रभाव डालते है, अगर सब कुछ कन्फर्म है तो पीरियड्स आने की डेट से एक दो दिन पहले इनका सेवन लाभदायक हो सकता है।

नोट – ऊपर दि हुए जानकारी के नोलेज के लिए है हम नहीं चाहते की आप किसी का गलत उपयोग करके स्वाथ्य के साथ खिलवाड़ करे, हमेशा डॉक्टर की सलाह ले और डॉक्टर के हिसाब से काम करे,

अंतिम पक्तिया

आशा करते है आपको ये पोस्ट पसंद आया होगा हमने इसमें सभी बातो का पूर्ण विवरण किया है जो महिला की अम्शिक धर्म या पीरियड्स के अंतर्गत आती है, अगर आपको कुछ आवर पुचना है तो आप हमें निचे कमेंट मई पुच सकते है।

हम आपका जवाब कुछ ही घंटो मई दे देंगे, अगर आपको पोस्ट अच लगे तो अपनी सहेलियों के साथ भी जानकारी पोस्ट शेयर करके कर सकते है. बने रहिये हमारे हिंदी गगन ब्लॉग के साथ और पाईये कम्पलीट इनफार्मेशन किसी भी टॉपिक पर, धन्यवाद।

You May Also Like

About the Author: Hari Kishan