Teneligliptin in Hindi जानिये तेनेलिग्लिप्तिन हिंदी में

जैसे जैसे साइंस आगे बढ़ रही है वैसे वैसे बहुत सारी खोज भी जो रही है । आजकल बहुत सारी बीमारियां आ गयी है वैसे ही मेडिकल में उनके इलाज के किये आये दिन नई दवाईया आती रहती है तो आज हम बात कर रहे है teneligliptin नाम की दवा की जिसका प्रयोग मधुमेह 2 प्रकार के रोग में उपयोगी है।

teneligliptin

Teneligliptin in Hindi

  1. ये मधुमेह प्रकार 2 की (diabities) दवा में उपयोगी है जिसका व्यापारिक नाम tenelia है।
  2. इसका रासायनिक नाम dipeptidyl peptidase-4 inhibitors है तथा इसे “gliptins” भी कहते है।
  3. इसका रासायनिक फार्मूला C22H30N6OS है।
  4. यह Mitsubishi Tanabe द्वारा बनाया गया था और इसे 2012 में Mitsubishi Tanabe pharma और Daiichi Sankyo दोनों द्वारा लांच किया गया था।
  5. यह जापान इंडिया अर्जेंटीना और कोरिया में अप्रूव्ड है।
  6. टेनेलिग्लिप्टिन में अद्वितीय जे आकार या फिर एंकर लॉक डोमेन की संरचना है, जिसके कारण इसमें डीपीपी 4 एंजाइम का एक शक्तिशाली अवरोध होता है।
  7. टेनेलिग्लिप्टिन एक मधुमेह विरोधी दवा है I यह अग्न्याशय से इंसुलिन की रिहाई बढ़ाने और रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ाने वाले हार्मोनों को कम करने से काम करता है। इससे उपवास और पोस्ट कील शर्करा के स्तर कम हो जाते हैं।
  8. टेनेलिग्लिप्टिन हाई लेवल डियाबिटिस के स्तर को नियंत्रित करने और मधुमेह के दीर्घकालिक जटिलताओं से बचने में मदद करता है।
  9. नियमित रूप से आपके रक्त शर्करा को मॉनिटर करती है।
  10. यह दवाई इन्सुलिन के स्त्राव को बढ़ाकर शुगर लेवल को कंट्रोल करता है।
  11. अन्य मधुमेह दवाइयों की तुलना में इसमे वजन और लो लेवल मधुमेह की संभावना कम होती है।

Dose लेने का सही तरीका-

इसका dose लेने से पहले एक बार डॉक्टर से जरूर सलाह लेनी चाहिए बिना डॉक्टर की सलाह से इस दवा का प्रयोग नही करना चाहिए क्योंकि वयस्क के लिए एक दिन में इसकी अधिकतम मात्रा 20mg से ज्यादा नही लेनी चाहिए। इस दवाई को दिन में एक बार लेनी चाहिए इससे अधिक मात्रा में नई लेनी चाहिए।

अगर फायदा नही लगे तो आप डॉक्टर की सलाह से एक से ज्यादा dose ले सकते है।  अगर एक दिन का dose मिस हो जाता है तो next day आप इसे continue कर सकते है।

जो इस दवाई का प्रयोग करते है उन्हें कुछ side effect भी हो सकते है जैसे–
1.सिरदर्द
2.ह्यपॉलीसिमिया
3.उल्टी
4.कब्ज
5.एक्जिमा
6.contact dermatitis.

सावधानी-

•कुछ परिस्थितियों में इस दवा का सेवन नही करना चाहिए जैसे कि ह्यपॉलीसिमिया , टाइप 1 डाईबिटीज़ गंभीर कीटोसिस या मधुमेही कोमा हो या पहले कभी हुआ हो तो इस दवाई का सेवन नही करना चाहिए।

•अगर आपको पहले से कोई गंभीर बीमारी या सर्जरी हुई है तो इसका सेवन न करे। एलर्जी होने पर भी इसका सेवन न करे।

•इसके सेवन से अगर आपको अपनी सेहत में कुछ खराबी लगे तो तुरंत डॉक्टर के पास जाए और सलाह ले।

•अगर आप ये dose ले रहे है तो अगर इसका कोई साइड इफ़ेक्ट हो रहा हो जैसे सांस में दिक्कत, चेस्ट प्रॉब्लम, स्किन रैशेस आदि अगर कुछ प्रॉब्लम हो तो डॉक्टर से संपर्क करे।

•इस दवा के लेने के बाद ज्यादा ऊंचाई पर न जाये। और ड्राइविंग करने से भी बचना चाहिए।

•गर्भवती महिलाओं को इस दवा से सेवन से बचना चाहिए।

•बच्चो ओर सूरज की रोशनी से इस दवा को दूर रखना चाहिए और इस दवाई का store नही करना चाहिए।

Verdict

आशा करता हु की आपको ये पोस्ट पसन्द आया होगा अगर आपके पास इससे जुड़ी कोई जानकारी या सुझाव है तो हमे भेजे।
धन्यवाद।

Translate »